अंतरा शब्दशक्ति

डॉ. प्रीति सुराना द्वारा 1 फरवरी 2016 को 13 महिलाओं के एक व्हाट्सअप समूह से की गई शुरुआत जिसने सृजन फुलवारी से सृजन शब्द से शक्ति का सफर तय करते हुए अन्तरा-शब्दशक्ति का स्वरूप लिया।
अन्तरा शब्दशक्ति एक ऐसा सृजन मंच जो शब्द से शक्ति का विस्तार करके हिंदी भाषा के प्रचार प्रसार के साथ-साथ स्त्री शक्ति, युवा शक्ति और नवांकुरों के साथ-साथ स्थापित रचनाकारों की विविध विधाओं में निहित रचना प्रतिभाओं को एक मंच पर लाकर वैश्विक स्तर पर लाने हेतु प्रयासरत है। अंतरा-शब्दशक्ति, वेबसाइट, मासिक वेबपत्रिका (ई मैगजीन), समाचार पत्रों में प्रकाशन के माध्यम से तथा सप्ताह का कवि विशेषांक (एक कवि का परिचय रचनाओं सहित हर रविवार सार्वजनिक मंच पर समीक्षा हेतु प्रस्तुत) वेबसाइट, फेसबुक पेज, फेसबुक ग्रुप और व्हाट्सअप ग्रुप के माध्यम से वृहद पर रचनाकारों को जनमानस से जोड़ता है।

हमारा अनुभव

अन्तरा शब्दशक्ति प्रकाशन के माध्य से साझा संकलन, स्मारिकाएँ, समीक्षाएं आदि भी प्रकाशित करवाकर प्रतिभाओं को सामने लाने का सतत प्रयास जारी है। साझा संकलनों, लघु पुस्तिकाओं और पुस्तकों का प्रकाशन भी किया जाता है। 25 मार्च 2018 को प्रकाशन पंजीकृत हुआ तब से अब तक 230 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित की जा चुकी है।

सफल प्रकाशित पुस्तकें

प्रकाशित किताबें

*मन की बात (कविता संग्रह)
*मेरा मन (कविता संग्रह)
*दृष्टिकोण (आलेख संग्रह)
*कतरा-कतरा मेरा मन (कथा संग्रह)
*काश!कभी सोचा होता,.. (व्यंग्य काव्य संग्रह)
*गद्य लेखन का महत्व (आलेख पुस्तिका)
*विचार क्रांति (हिन्दी पर विशेष विचार संकलन)
*जोगराज जी का वंशवृक्ष (परिवार परिचय)
*कर्म इक्तीसा (धार्मिक पुस्तिका)
*सुनो! (मेरे मन की बात,..)

हमारी विशेषज्ञता

अन्तरा-शब्दशक्ति प्रकाशन द्वारा 10 माह में 230 से अधिक लघु पुस्तिकाओं व पुस्तकों का संपादन व प्रकाशन। ‘अन्तरा-शब्दशक्ति’ मासिक वेब पत्रिका (जिसे प्रिन्ट मे भी संग्रहित किया जाता है)

अन्तरा शब्दशक्ति एक ऐसा सृजन मंच जो शब्द से शक्ति का विस्तार करके हिंदी भाषा के प्रचार प्रसार के साथ-साथ स्त्री शक्ति, युवा शक्ति और नवांकुरों के साथ-साथ स्थापित रचनाकारों की विविध विधाओं में निहित रचना प्रतिभाओं को एक मंच पर लाकर वैश्विक स्तर पर लाने हेतु प्रयासरत है।

विश्व हिंदी रचनाकार मंच

विश्व हिंदी रचनाकार मंच,कनाडा में 100 रचनाकारों के प्रथम परिचय संकलन में परिचय सम्मिलित, 1500 से अधिक रचनाएं 2011 से अब तक ब्लॉग ‘मेरा मन’ में प्रकाशित।

अख़बारों एवं पत्रिकाओं में प्रकाशित

400 से अधिक रचनाएं 2011 से अब तक कनाडा, दिल्ली, भोपाल, लखनऊ, श्रीगंगानगर, मंदसौर, नोएडा, बालाघाट आदि के अख़बारों एवं पत्रिकाओं में प्रकाशित जिसका प्रमाण फेसबुक में मौजूद है।

रचना का पंजाबी अनुवाद

दो रचना का पंजाबी अनुवाद पंजाबी टुडे ,कनाडा में प्रकशित जिसका प्रमाण फेसबुक में मौजूद है। अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म फेस्टिवल *DIFF 2015* में रचना प्रकाशित।

हिन्दी ग्राम मातृभाषा उन्नयन संस्थान

हिन्दी ग्राम मातृभाषा उन्नयन संस्थान द्वारा चलाए जा रहे हस्ताक्षर बदलो अभियान में पतंजलि योगपीठ एवं योगगुरु बाबा रामदेव द्वारा समर्थन एवं आशीर्वाद हेतु हरिद्वार यात्रा।

तीन गज़लों को स्वर दिया

तीन गज़लों को स्वर दिया यतीन्द्र गोहिल जी ने।
मातृभाषा उन्नयन संस्थान के प्रतिनिधित्व में हिन्दी के प्रचार हेतु कश्मीर यात्रा।

रचनाओं का गुजराती में अनुवाद

300 से अधिक रचनाओं का गुजराती में अनुवाद फ़ेसबुक और वेबसाइट पर प्रकाशित जिसका प्रमाण फेसबुक में मौजूद है।

हमारी विशेषज्ञता

Etiam facilisis eu nisi faucibus purus scele risque faucibus semper suscipit magna lorem.

Sed interdum, lacus et vulputate pellentesque, velit nulla commodo sem, at egestas nulla metus vel sapien! Lorem ipsum dolor sit amet communitas imperdiet eleifend magna, egetipsum dolor.

Web Design

Pellen tesque velit nulla sem at unitas poten ornare felis amet sit.

Marketing

Lorem ipsum velit nulla sem at unitas poten ornare felis dolor amet.

Mobile Apps

Glavrida velit nulla sem at unitas poten ornare felis amet sit.