LOADING

Type to search

9 Comments

  1. ABHA Nagar August 13, 2018

    Nice

    Reply
  2. Naini grover August 13, 2018

    Bahut khoob

    Reply
  3. बहुत सुंदर नीरजा दीदी

    Reply
  4. बहुत ही भावपूर्ण कविता दी । जैसे बिलकुल भींग गया मन ।
    हार्दिक बधाई इतनी सुंदर सृजन के लिए ।

    Reply
  5. kedar Nath August 14, 2018

    बहुत सुन्दर संग्रह …हार्दिक बधाई नीरजा बहिन

    Reply
  6. RAKSHIT DAVE August 15, 2018

    बहोत ही बढ़िया अभिव्तक्ति नीरजा जी

    देर लगेगी लेकिन ये पूरी कविताका
    गुजरातीमे भावानुवाद करके आपको
    गिफ्टमे दूंगा….!

    Reply
  7. हार्दिक आभार आपका आभा बेन, नैनी सखी, डॉली सखी, सत्या जी, केदारनाथ जी और रक्षित भाई। दिल से धन्यवाद आप सभी का। रक्षित भाई बेसब्री से इंतज़ार है।

    Reply
  8. Dr.Purnima Rai August 23, 2018

    बढ़िया अभिव्यक्ति!मनभावन सृजन!बधाई नीरजा दी जी

    Reply
  9. नीरजा मेहता September 15, 2018

    हार्दिक धन्यवाद प्रिय पूर्णिमा

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *