अलख निरंजन प्रसाद सिन्हा

अंतरा शब्द शक्ति और मेरा अनुभव अंतरा शब्द शक्ति से मेरा पहला परिचय फेसबूक पर हुआ। मुझे जनवरी 2019 में संस्था द्वारा आयोजित दिल्ली में पुस्तकों के विमोचन कार्यक्रम में सम्मिलित होने का अवसर प्राप्त हुआ जिसमें सबसे छोटी प्रतिभागी मेरी नातीनी आस्था दीपाली की पुस्तक ‘जादू की छड़ी’ का विमोचन हुआ था। संस्था के…

डॉ. वासिफ क़ाज़ी

अन्तरा शब्दशक्ति और मेरे अनुभव किसी ने ठीक ही कहा है – लेखक एवं कवि को बनाया नहीं जा सकता, किसी प्रयोगशाला में सृजित नहीं किया जा सकता । लेखक, जन्मजात होता है अंतर्मन के भावों को शब्दों के माध्यम से अभिव्यक्ति देकर समाज में वो अपना अमूल्य योगदान दे सकता है । मेरी साधारण…

मीनाक्षी सुकुमारन

अन्तरा शब्दशक्ति और मेरा अनुभव सब से अहम बात जो अन्तरा-शब्दशक्ति के माध्यम से हुआ है वो है साझा संग्रह की प्रथा को तोड़ते हुए अपनी निजी पुस्तकों का प्रकाशन जिस से हर एक को अवसर मिला अपनी खुद की पुस्तक प्रकाशित होने का जो एक गर्व की बात है। इस तरह निरंतर अन्तरा-शब्दशक्ति डॉ…

मीना विवेक जैन

अंतराशब्दशक्ति और मेरा अनुभव आज मैं जो कुछ भी हूँ, जितनी भी हूँ और अपनी रचनात्मक उपलब्धियों के जितने भी स्वाद मैंने चखे हैं उसके पीछे अंतराशब्दशक्ति मंच का बहुत बडा योगदान रहा है, अंतराशब्दशक्ति से मुझे जीवन में एक सुनहरा मौका मिला अपने अंदर की रचनात्मक भावनाओं को सबके सामने लाने का, अंतरा में…

मनोरमा रतले

अंतरा शब्द शक्ति और मेरा अनुभव अंतरा जो अंतर मिटा दे..नये पुराने में ,कनिष्ठ वरिष्ठ में.. सच..अनमोल वो पल थे ..और है..और रहेगे।अंतरा नव रचनाकारो को नया जीवन या ये कहे इसने नई दिशा दी है कलमकारो को सही रूप में मान दिया है..क्योंकि जो नये है जिनने अभी अभी कलम संभाली और लोगो ने…

माधुरी मिश्रा

अन्तरा शब्दशक्ति- एक पुष्प वाटिका अंतरा शब्द शक्ति से मेरा परिचय बेटी शुभ्रा ने कराया। उसका सदस्य बन कर मुझे कुछ ऐसा लगा, जैसे उस ने कमरे की बगीचे वाली खिड़की खोल दी, और बोल रही है–” देखो मां कितने सुन्दर-सुन्दर फूल खिले हैं बगीचे में।” सच में अंतरा शब्द शक्ति रंग बिरंगे पुष्पों से…

कृति गुप्ता

अन्तरा शब्दशक्ति और मेरा अनुभव क्या आपने कभी भीषण तपती दोपहरी में चलते चलते अचानक एक घना फलदार वृक्ष मिलने की ख़ुशी और तृप्ति अनुभव की है? कंक्रीट के जंगलों जैसे महानगरों की तन और मन को जला दे, ऐसी भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में लेखन मेरे लिए घनी छाया समान है और वह वृक्ष है…

किरण मोर

अंतरा शब्द शक्ति और मेरा अनुभव लेखन क्षमता तो स्कूल के समय से रही, पर शायद मैं इससे अनभिज्ञ थी। लेखन के प्रति रुझान भी था पर इसे मैं शायद अपने खाली समय को व्यतीत करने का एक जरिया मानती थीऔर यूं ही डायरी में मन के कुछ खट्टे मीठे, कड़वे और कुछ सुख दुख…

कैलाश बिहारी सिंघल

अन्तरा शब्दशक्ति और मेरे अनुभव अंतरा शब्दशक्ति एक साहित्यिक परिवार है, जिसमें स्थापित रचनाकारों के साथ नवोदितों के लिए साहित्य सृजन के नित नए द्वार खुल रहे है, नवोदितों को प्रोत्साहित करने के साथ साथ उनमें सृजन की बारीकियों से रूबरू करवाना, नित नए साहित्यिक प्रयोग, जैसे कहानी, संस्मरण, गद्य, शब्द युग्म, गीत ग़ज़ल,कविताएं आदि…

डॉ. हेमा पाण्डेय

अन्तरा शब्दशक्ति और मेरा अनुभव “हजारों साल नरगिस अपनी बेनूरी पे रोती है, बड़ी मुश्किल से होता है चमन में दीदावर पैदा।” ये लाइनें अंतरा शब्द शक्ति के ऊपर पूरी तरह चरितार्थ होती है। उसने साहित्यिक क्षेत्र में अपनी गरिमामयी उपस्थिति दर्ज की है। उसका योगदान सराहनीय है। हर व्यक्ति में कुछ न कुछ प्रतिभा…

डेज़ी जुनेजा

अंतरा शब्द शक्ति और मेरा अनुभव सादर नमन एक सपना सा लगता है… कभी सोचा नहीं था की ये मुक़ाम भी मेरी ज़िंदगी में आएगा। कुछ हुनर होते है हम सब में, पर हम बेख़बर होते है। कुछ ऐसा ही मेरे साथ भी हुआ। शायद हम सब में कुछ ऐसे अनकहे शब्द होते है जो…

देवयानी नायक

अन्तरा शब्द शक्ति सम्मान और यादें अंतरा शब्द शक्ति सम्मान सन् २०१८ तारीख की घोषणा जैसे ही सर्वविदित हुई मन मयूर नाच उठा कि चलो लंबे समय की घडियाँ गिनती में परिवर्तित हो चुकी है। मैं भोपाल में आयोजित “अन्तरा शब्द शक्ति सम्मान” 2017 की यादें कभी भी नहीं भूल सकती। उन यादों में मीठी…

बिंदु त्रिपाठी

“शब्दों को शक्ति देता -अंतरा शब्द शक्ति” बात चाहे शब्द महिमा की हो, शब्द शिल्पियों की हो या उनके कृतित्व और व्यक्तित्व को पहचान देने की अंतरा शब्द शक्ति ने अपने नाम के अनुकूल ही शब्द और शब्द शिल्पियों की ताकत को समझा परखा और सम्मानित किया। मानव मन की यह सहज प्रवृत्ति होती है…

बबिता कंसल

अन्तरा शब्दशक्ति और मेरा अनुभव सखी को दी मेरी दो रचनाएँ अन्तरा शब्द शक्ति में प्रकाशित हुई। तब मैंने पहली बार अन्तरा शब्द शक्ति को जाना। फेसबुक पर किये किसी के कमेंन्ट को पढ़कर लिखा “प्रीती जी मै आप से जुड़ना चाहती हूँ, उसी पर मैने भी अन्तरा शब्द शक्ति से जुड़ने की इच्छा रखी…

बबिता चौबे ‘शक्ति’

अंतरा शब्द शक्ति और मेरा अनुभव शब्द ही शक्ति है बिल्कुल सच है। मौन हर बात का जबाब कतई नही हो सकता अंतरा से जुड़कर हमने जाना। कलम की ताकत को शब्दो की ताकत को हमने जाना। अंतरा से जुड़ने के बाद लेखन निरन्तर बड़ा क्योकि दैनिक विषयो का मिलना और मन न होने पर…

अरविंद ताम्रकार ‘सपना’

अंतरा शब्द शक्ति और हमारा अनुभव       “अंतरा शब्द शक्ति” एक प्रकाशन नहीं बल्कि एक आंदोलन है हिंदी भाषियों के लिए, जिसने नारी शक्ति के विचारों को प्रकट करने के लिए एक ऐसा मंच उपलब्ध कराया, जो देश की इस सृजन शक्ति को विभिन्न विषयों पर अपनी भावनाओं को प्रकट करने एवं अपनी पहचान बनाने…

आरती तिवारी ‘सनत’

अंतरा शब्दशक्ति अपना सा अंतरा शब्द्शक्ति से मुझे जुड़े हुए लगभग एक वर्ष हुए हैं ,एैसा लगता है बहुत समय से जानती हूँ। डॉ. प्रीति सुराना जी का प्रोत्साहन, सोच, और उपलब्धता हर समय मेरी हिम्मत बढ़ाता है। सोलह और बत्तीस पेज की किताबें सभी रचनाकारों को एक अलग पहचान देती हैं, साथ ही नये…

अर्चना अनुप्रिया

“मेरी नजर से अंतरा शब्दशक्ति” संवेदनशील मन हमेशा अपने आस -पास की घटनाओं से प्रेरित होकर कुछ न कुछ रचता रहता है।अंतर्मन मेंं उठने वाहले इन्हीं शब्दों को शक्ति देता है…अंतरा शब्दशक्ति का मंच।मैं जब अंतरा शब्दशक्ति से जुड़ी, मेरी कल्पनाओं को मानो पंख मिल गए।दिल मेंं उमड़ने वाली हर तरह की भावनाएँ शब्दों मेंं…

अर्चना कटारे

अन्तरा के बारे मे जितना कहूँ सब कम होगा ~~~~~~ अन्तराशब्द शक्ति के बारे मे क्या कहुँ ये तो सूरज को रोशनी दिखाने जैसा होगा……. मुझे हमेशा से लिखने का शौक था… पर वो पेपर और डायरी तक ही सीमित थे।हमेशा सोचती मुझे कोई लिखने को कहे तो मै बहुत कुछ लिख सकती हूँ,पर कैसे…..एक…

अपर्णा गर्ग

अंतरा शब्द शक्ति और आप का अनुभव अंतरा शब्द शक्तिए….यथा नाम तथा गुण अंतरा शब्द शक्ति को धन्यवाद देना चाहूँगी, जिसने मेरे रूके हुए कदमों को गति प्रदान की। प्रीति जी का सहयोग हमेशा यादगार रहेगा, उन्होंने पत्रिका में मेरी कहानी ‘‘अधिकार’’ को स्थान देकर मेरा मनोबल बढ़ाया है। भावों को शब्दों के रूप में…

अनिता मिश्रा ‘सिद्धि’

अन्तरा शब्द शक्ति और मेरे अनुभव अंतरा-शब्दशक्ति और प्रीति समकित सुराना जी से मैं बहुत दिनों से जुडी हूँ । फेसबुक लोकजंग अखबार व्ह्हाट्स-अप ग्रुप सभी से जुड़ी हूँ । एक अत्यंत सहज-सरल और प्रतिभा-संपन्न कवियत्री से जुड़कर साहित्य रचना करना मेरे लिए गर्व की बात है। अंतरा-शब्द-शक्ति के साथ बिताए हुए अनुभव को शब्दों…

अलका रागिनी

अन्तरा शब्दशक्ति और मेरा अनुभव हिंदी भाषा के क्षेत्र में अपनी गरिमामय कार्य योजनाओं के साथ अन्तरा शब्द शक्ति एक बड़ी भूमिका में अपना स्थान ले चुकी है। हिंदी साहित्य के प्रत्येक विधा में प्रकाशित होती कृतियाँ इसकी पहचान है। साथ -साथ नवोदित रचनाकारों को एक मजबूत धरातल देने में भी अन्तरा शब्द शक्ति ने…

नमिता दुबे

अन्तरा शब्द शक्ति और आपका अनुभव लिखनें का शौक स्कूल के जमानें से था। पत्र पत्रिकाओं में छपता भी था। पर विवाह के बाद परिस्थतियां एकदम बदल गई। साऊथ का रिमोट एरिया, जहां बात करने के लिये भी लोग नहीं थे।बच्चे हुये और अपने जैसे लोग मिलते गये। वक्त दौडनें लगा। बच्चे जब बड़े हुये…

नवीन जैन ‘अकेला’

साहित्य का तीर्थस्थल अंतरा- शब्दशक्ति जय हिंदी जय अंतरा शुभ सृजन का मंतरा नवीन जैन अकेला Total Page Visits: 241 – Today Page Visits: 2

नवनीता कटकवार

अन्तरा-शब्दशक्ति और मेरा का अनुभव प्रीति सुराना जी से मेरा परिचय हमारे घनिष्ट पारिवारिक मित्र के पुस्तक विमोचन के समारोह में हुआ। औपचारिक बातों के साथ यह मुलाकात सुखद रही। कुछ ही समय बाद सोशल साइट्स मैं प्रीति जी से दुबारा मिलना और उनका अंतरा शब्दशक्ति परिवार में मुझे शामिल करना | मेरा साहित्य के…

नीरजा मेहता ‘कमलिनी’

शब्दों की शक्ति—अंतरा शब्द शक्ति (एक अनुभव) अंतरा शब्द शक्ति से जुड़ना अपने आप में एक नया अनुभव है। जब अंतरा शब्द शक्ति से जुड़ी, उस समय नहीं जानती थी कि अंतरा में शब्दों की वो शक्ति है जो वास्तव में उसको अन्यों से अलग करती है। अंतरा के साथ मेरा अनुभव यही कहता है…

पारसनाथ जायसवाल

अंतरा शब्दशक्ति और मेरा अनुभव अन्तरा शब्द शक्ति एक ऐसा मंच है जो हिंदी साहित्य के लिये संजीवनी का कार्य कर रही है । मंच की संस्थापिका डॉ प्रीति सुराना जी ने इसकी स्थापना १फरवरी२०१६ को साहित्यिक सेवा हेतु किया था। सह संस्थापक आ समकित सुराना जी एवं सहयोगी अविचल जी , सिंघल जी ,…

पूनम कतरियार

अंतरा शब्दशक्ति और मेरा अनुभव अगर किसी चीज को दिल से हासिल करना चाहो तो सारी कायनात उसे तुम से मिलाने में जुट जाती है।कुछ ऐसा ही हुआ मेरे साथ भी।बचपन से ही लेखन में अभिरुचि होने की वजह से, अनजाने ही मन में अपनी पुस्तक छपवाने का एक सपना पलने लगा था। किंतु, आगे…

रचना सक्सेना

अंतरा शब्द शक्ति और हमारा अनुभव दो वर्षो पूर्व मैं अंतराशब्द शक्ति से एक वाट्सऐप ग्रुप के माध्यम से जुड़ी। यहाँ आकर मेरी पहचान प्रीति सुराना जी से हुई जिसके द्वारा मुझे हिन्दी भाषा के विकास मे उनके प्रयासों की सक्रीयता की जानकारी मिली। मैनें गर्व महसूस किया साथ ही अपने आप को भाग्यशाली भी…

साधना छिरोल्या

“अंतरा शब्द-शक्ति और आपका अनुभव” अंतरा शब्द-शक्ति के साथ अपना अनुभव लिखना,,,,,,,सच पूछिये तो इसके लिये मेरी लेखनी के पास शब्द ही नहीं हैं। अंतरा ने ही मुझे अपने अस्तित्व,अपने वजूद से रूबरू करवाया। जैसे एक कुम्हार,अनगढ़ मिट्टी को गढ़ कर एक नया रूप प्रदान करता है, वैसे ही अंतरा ने मुझे गढ़ कर एक…

सपना परिहार

अन्तरा शब्दशक्ति और मेरा अनुभव मैं तीन वर्ष से प्रीति सुराना जी के माध्यम से अंतरा-शब्दशक्ति जुड़ी। इन तीन वर्ष के अनुभव की बात करूँ तो साहित्य के क्षेत्र में प्रीति जी ने नए रचनाकारों को जो मंच प्रदान किया है वह सराहनीय है।उनके इस योगदान से नए लोगो को अभिव्यक्ति का मंच मिला, समाज…

वर्षा अग्रवाल

अन्तराशब्दशक्ति और मेरा अनुभव एक दिन फ़ेसबुक के पन्ने पलटते डॉ प्रीति सुराना का एक आलेख पढ़ा,कि कैसे साझा संकलन पर व्यय की गयी राशि में निजी किताब प्रकाशित हो सकती है।मेरे लिये जानकारी निःसन्देह सुखद आश्चर्य पूर्ण थी ; क्योंकि मैं भी अनेक साझा संकलनों का हिस्सा बन चुकी थी।साझा संग्रहों का सबसे कमज़ोर…

पिंकी परुथी ‘अनामिका’

“अन्तरा शब्दशक्ति और मैं” अन्तरा-शब्द शक्ति,,,, पूर्ण मनोयोग से बनाया गया सुन्दर परिवार,, जिसमें जो जिस प्रकृति का है , एक दूसरे को स्वीकार्य है। किसी भी परिवार या समूह में भाँति भाँति के स्वभाव वाले होते हैं, इसे में समूह इसलिए नहीं कह रही हूँ क्योंकि यह सच में एक परिवार ही है। जिस…

डॉ वर्षा चौबे

अंतरा शब्द शक्ति और मैं लगभग पिछले तीन वर्षों पूर्व ‘अंतरा शब्द शक्ति’ समूह से मुझे ने आदरणीय मनोज जी ने जोड़ा।आरंभ में तो समूह में इतने सारे लोगों के बीच मुझे ऐसा लगा की किसी को कोई पढ़ता नहीं है, सब अपनी रचनाएं प्रस्तुत करते हैं। लेकिन जैसे-जैसे मैं इससे परिचित होती गई लगा…

रागिनी स्वर्णकार (शर्मा)

अन्तराशब्दशक्ति और मेरा अनुभव अन्तराशब्दशक्ति में सृजन का जो बीज प्रीति सुराना जी ने बोया, वह धीरे-धीरे अंकुरित, पल्लवित होते हुए पुष्पित हो रहा है। जिससे सुरभित हुई चहु दिशाएं! अनगिनत पाठकों के मन को महका रहीं हैं । नित नये आयाम गढ़ते हुए किया गया अथाह परिश्रम फलित हो रहा है। सबसे बड़ी बात…

अनिता मंदिलवार ‘सपना’

अंतरा शब्द शक्ति के साथ हमारा अनुभव अंतरा शब्द शक्ति और हमारा साथ पुराना है। अंतरा शब्दशक्ति प्रकाशन में पहली पुस्तक कविताओं की सृजन समीक्षा और दूसरी पुस्तक जीवन के रंग दोहों के संग प्रकाशित हुई है। सच में अनुभव तो आनंददायक ही रहा। हम अगर पहली पुस्तक सृजन समीक्षा की बात करें तो बहुत…

ब्रजेश शर्मा ‘विफल’ झांसी (उ.प्र.)

अंतरा शब्द शक्ति का हिंदी सेवा में योगदान:- अंतरा शब्द शक्ति आभासी दुनिया में एक वास्तविक नाम, जो हिंदी साहित्य की सेवा के लिए सम्पूर्ण समर्पित है । अपने गठन के तीन वर्षों के भीतर ही शीर्ष तक का सफ़र इस शिशु ने तय कर लिया है । आज फेस बुक और wap से आगे…

नवनीता दुबे ‘नूपुर’

“अंतरा शब्दशक्ति औऱ मेरा अनुभव” “अंतरा शब्दशक्ति मेरे लिये साहित्य जगत में एक सूर्य की भांति मेरे व्यक्तित्व को उजास की किरणें प्रदान करती हुई सिद्ध हुईं । अंतरा शब्दशक्ति से जुड़ने के पश्चात,मेरी लेखनी को एक नई पहचान व सम्मान मिला।मुझमें उत्कृष्ट व उम्दा लेखन का उष्मीय संचार उतपन्न हुआ। मैं अत्यंत गदगद ह्रदय…

डॉ भारती वर्मा बौड़ाई

अन्तरा शब्दशक्ति और आपका अनुभव ——————————————— प्रीति अन्तरा शब्दशक्ति है या अन्तरा शब्दशक्ति प्रीति है कहना बहुत कठिन है। ये दोनों इस तरह एक-दूसरे में समाए हुए हैं कि इनके लिए “एक प्राण एक शरीर” कहना मुझे अधिक उपयुक्त लगता हैं।यह एक ऐसे परिवार का रूप ले चुका है जहाँ प्रेम, स्नेह, विश्वास, त्योहार….सभी रंग…

Total Page Visits: 241 - Today Page Visits: 2